आज जब पूरा विश्व प्यार का महिमा मंडन करने वाले वेलेंटाइन डे को मना रहा है, उस प्यार के महिमा को शर्मसार करने वाले घातकियों ने हमारे चालीस जवानों की बर्बरता पूर्वक जान ले ली।

Pulwama Terrorist attack on CRPF convoy sacrifices 40 martyrs.
पुलवामा आतंकी हमले में चालीस CRPF जवान शहीद

जैशे मोहम्मद इस हमले की जिम्मेदारी ले रहा है ऐसा समाचारों से पता चल रहा है। बहुत दर्द हो रहा है। काफ़ी तकलीफ़ औऱ ग़मज़दा होने के बावजूद लिखना इसलिये जरूरी है कि अब बर्दाश्त की सीमाओं के पार ये दर्द है। अब सिर्फ़ बातों से औऱ इस हमले की कड़ी से कड़ी निंदा करनेवाले बयान हिंदुस्तानियों के घावों पर मरहम नहीं लगा पाएंगे।

अब वक़्त है जब ये सारे आतंकी औऱ इनके सारे आक़ा, चाहे सरहद के उस पार हो या इस पार हो, उनका पूरा सेनीटाइज़ेशन हो औऱ तुरंत हो यह फैसला लेने का वक़्त है। चाहे कुछ भी हो, इस हमले का तुरंत ज़वाब, औऱ ऐसा ज़वाब जो आतंकियों को औऱ उनके सारे आकाओं को ख़त्म कर दे।

सारी दुनिया को पता चले की हिंदुस्तान के जवानों के खून का एक कतरा भी बहाने की सोचने वालों के दिल डर से थर्रा जाए, ऐसा बदला ही देशवासियों के घावों पर मरहम लगा सकेगा। बातें नहीं, एक्शन।

मेरे शहीद भाइयों को मेरी हार्दिक श्रद्धांजलि।

 

#Pulwama Attack, #Kashmir Attack, #Terror